एसटीएफ ने बीएसए कार्यालय के रिकॉर्ड खंगाले

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img

बेसिक शिक्षा विभाग में फर्जी शिक्षक जांच का मामला एक बार फिर गरमा गया है. गुरुवार को एसटीएफ ने बीएसए कार्यालय पहुंचकर पूर्व में बर्खास्त किए गए शिक्षकों का रिकॉर्ड खंगाला (STF scrutinised records of BSA office).

बेसिक शिक्षा विभाग में अब तक कई शिक्षक फर्जी दस्तावेजों के आधार पर नौकरी करते पकड़े जा चुके हैं। फर्जी शिक्षक होने की शिकायत के बाद वर्ष 2017 में तत्कालीन बीएसए रामकरण यादव ने वर्ष 2010 से 2017 तक की गई नियुक्तियों की जांच करायी और 31 शिक्षक फर्जी पाये गये.
एक जुलाई 2017 को सभी फर्जी शिक्षकों के खिलाफ थाना कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी. फर्जी शिक्षक मामले की जड़ का पता लगाने के लिए एसटीएफ जांच कर रही है। गुरुवार को एसटीएफ के पांच सदस्य बीएसए कार्यालय पहुंचे। करीब चार घंटे तक एसटीएफ अधिकारियों ने बर्खास्त शिक्षकों की फाइलों को खंगाला। जांच अधिकारी से भी पूछताछ की।
इस दौरान बीएसए कार्यालय में फर्जी शिक्षकों की चर्चा जोरों पर थी (STF scrutinised records of BSA office).

किस भर्ती में कितने फर्जी शिक्षक मिले

10800 शिक्षक भर्ती 2013 में फर्जी पाए गए शिक्षक

29 हजार शिक्षक भर्ती 2013 में 08 शिक्षक फर्जी पाए गए

STF scrutinised records of BSA office

भर्ती 2014 में 10 हजार शिक्षक फर्जी पाए गए

पुराने मामले में जांच के लिए एसटीएफ की टीम आई थी। उन्होंने जो भी रिकॉर्ड मांगा, उन्हें उपलब्ध कराया गया।

आगरा से जुड़ी और जानकारी के लिए अनरेवलिंग आगरा को फॉलो करें
Also Read :कार्यक्रम में मौजूद हर शख्स ने खोजा भाजपा विधायक के जूते, लेकिन नंगे पैर घर लौटे

- Advertisement -spot_imgspot_img
juhi kanojia
जूही एक डिजिटल मार्केटिंग/एसईओ विशेषज्ञ और अनरेवलिंग आगरा की संचालक हैं। गूगल ऐडवर्ड्स/ऐडसेंस, एफिलिएट मार्केटिंग, सामग्री लेखन, प्रचार, वेब विकास, और प्रबंधन की विशेषताएँ हैं इसके अलावा, इन्होंने वाणिज्य का भी अध्ययन किया है।
Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here